बिहार MLC चुनाव: BJP-JDU प्रत्याशियों ने किया नामांकन, निर्विरोध चुना जाना तय? – Bihar mlc election bjp jdu congress candidate nomination filing rjd elected unopposed tpt

0
1


  • बीजेपी-जेडीयू प्रत्याशी ने किया MLC के लिए नामांकन
  • निर्दलीय ने नहीं भरा पर्चा तो सभी प्रत्याशी होंगे निर्विरोध निर्वाचित

बिहार विधान परिषद चुनाव के नामांकन की आज यानी गुरुवार को अंतिम दिन है. प्रदेश की 9 एमएलसी सीटों के लिए आरजेडी 3, जेडीयू 3, बीजेपी दो और कांग्रेस ने एक प्रत्याशी को मैदान में उतारा है. आरजेडी के सभी तीनों प्रत्याशियों ने बुधवार को नामांकन दाखिल किया है जबकि जेडीयू, बीजेपी और कांग्रेस प्रत्याशियों ने गुरुवार को नॉमिनशन फाइल किए हैं. इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी मौजूद थे. ऐसे में अगर कोई निर्दलीय प्रत्याशी नामांकन नहीं करता है तो सदस्यों का निर्विरोध चुना जाना तय है.

बिहार में एक विधान परिषद सीट जीतने के लिए 25 विधायकों के वोट चाहिए. मौजूदा समय में संख्याबल पर नजर डालें तो जेडीयू के पास 70, बीजेपी के पास 54 और एलजेपी के पास दो एमएलए हैं. दूसरी ओर आरजेडी के 79 और कांग्रेस के 26 विधायक हैं. सीपीआई एमएल के तीन, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के एक, असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम के एक और पांच निर्दलीय विधायक हैं.

ये भी पढ़ें: बिहार में वोटों का समीकरण, आरजेडी और जेडीयू ने खेला मुस्लिम दांव

मौजूदा विधायकों के आंकड़े को देखते हुए सभी दलों ने अपने प्रत्याशी उतारे हैं. आरजेडी की ओर से सुनील सिंह, रामबली सिंह चंद्रवंशी और फारुख शेख ने बुधवार को नामांकन दाखिल किया है. माना जा रहा है कि आगामी चुनाव के मद्देनजर तेजस्वी यादव ने राजपूत, मुस्लिम और अतिपिछड़ा समुदाय से कैंडिडेट उतारे हैं. वहीं, आरजेडी की सहयोगी कांग्रेस ने पहले तारिक अनवर को प्रत्याशी बनाया था, लेकिन नामांकन से ऐन पहले उनकी जगह समीर सिंह को प्रत्याशी बना दिया है. समीर सिंह नामांकन करने के लिए पहुंचे हैं.

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू से एमएलसी के लिए गुलाम गौस, कुमुद वर्मा और भीष्म साहनी को उम्मीदवार बनाया गया है. जेडीयू के तीनों उम्मीदवारों ने आज नामांकन पत्र दाखिल किया. नीतीश ने इस बार एक मुस्लिम, एक महिला और एक अत्यंत पिछड़ा समाज के उम्मीदवारों पर दांव खेला है, इस तरह से उन्होंने जातीय और क्षेत्रीत समीकरण साधने की कवायद की है.

ये भी पढ़ें: 1 यादव, 1 मुस्लिम… RJD के 5 MLC जेडीयू में शामिल कराना नीतीश का मास्टर स्ट्रोक

बीजेपी की ओर से एमएलसी के लिए डॉ. संजय मयूख और सम्राट चौधरी ने गुरुवार को नामांकन पत्र दाखिल किए हैं. संजय मयूख कायस्थ समुदाय से आते हैं, बिहार में भले ही दो प्रतिशत वोट कायस्थ का हो, लेकिन इस जाति का राजनीतिक रसूख कहीं ज्यादा है और बीजेपी का परंपरागत वोटर माना जाता है. वहीं, उपेंद्र कुशवाहा की काट के लिए सम्राट चौधरी पर भरोसा जताया गया है, जिसकी बिहार में अच्छी खासी आबादी है. 6 जुलाई को चुनाव होना है

बिहार विधान परिषद के 9 सीटों के लिए गुरुवार को अंतिम दिन है और 6 जुलाई को चुनाव होना है. नामांकन पत्रों की जांच 26 जुलाई होगी जबकि नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 29 जून है. ऐसे में अगर आरजेडी, जेडीयू, बीजेपी और कांग्रेस के 9 उम्मीदवारों के अलावा कोई निर्दलीय मैदान में नहीं उतरता है तो 29 जून को इन सभी प्रत्याशी का निर्विरोध चुना जाना तय है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS





Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें