चुनाव से पहले RJD को एक और झटका, पूर्व विधायक और प्रदेश उपाध्यक्ष विजेंद्र यादव ने छोड़ी पार्टी। Before the election another blow to the RJD, state vice president left the party | patna – News in Hindi

0
1


चुनाव से पहले RJD को एक और झटका, पूर्व विधायक और प्रदेश उपाध्यक्ष विजेंद्र यादव ने छोड़ी पार्टी

पार्टी में उपेक्षित होने की बात कह विजेंद्र यादव ने राजद से नाता तोड़ा.

विजेंद्र यादव ने कहा कि मैं पार्टी में लगातार उपेक्षा का शिकार हो रहा था, यही कारण है कि मैंने पार्टी को छोड़ने का फैसला लिया है. हालांकि विजेंद्र यादव ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि वह किस पार्टी का हाथ थामेंगे.

पटना. बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पूर्व एक बार फिर से विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को बड़ा झटका लगा है. पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और भोजपुर के संदेश से दो बार विधायक रहे विजेंद्र कुमार यादव (Vijendra Kumar Yadav) ने शनिवार को पार्टी से नाता तोड़ लिया. आरा स्थित सर्किट हाउस में प्रेस वार्ता करते हुए विजेंद्र यादव ने इसकी घोषणा की. विजेंद्र यादव ने कहा कि मैं पार्टी में लगातार उपेक्षा का शिकार हो रहा था, यही कारण है कि मैंने पार्टी को छोड़ने का फैसला लिया है. हालांकि विजेंद्र यादव ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि वह किस पार्टी का हाथ थामेंगे.

30 साल तक रहे RJD के संग

विजेंद्र यादव साल 2000 से 2010 तक भोजपुर के संदेश विधानसभा क्षेत्र से राजद के विधायक रह चुके हैं. लेकिन इसके बाद हुए 2010 के चुनाव में वह हार गए. जबकि 2015 के चुनाव में पार्टी ने उनकी जगह उनके छोटे भाई अरुण यादव को अपना उम्मीदवार बना दिया था. विजेंद्र यादव इसके बाद से लगातार साइड लाइन पर थे. उन्होंने इस बात की घोषणा करते हुए कहा कि मैं पार्टी में प्रदेश उपाध्यक्ष होने के बावजूद लगातार उपेक्षित हो रहा था और मेरी धैर्य की सीमा समाप्त हो गई. मैं लगभग 30 साल तक लालू प्रसाद के साथ रहा और पार्टी ने मुझे जो जिम्मेदारी दी उस का बखूबी निर्वहन किया. लेकिन अब उपेक्षा के कारण मैं पार्टी छोड़ रहा हूं.

‘अब पार्टी में लालूजी वाली बात नहीं’विजेंद्र यादव ने कहा कि अब राजद लालूजी वाली पार्टी नहीं रही, जहां कार्यकर्ताओं को तवज्जो और टिकट मिलता था. अब केवल बाहरी लोगों को टिकट दिया जा रहा है. यादव ने कहा कि मैंने पूरी कोशिश की थी कि मरते दम तक पार्टी के साथ रहूंगा, लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा नहीं हो सका. विजेंद्र यादव के इस्तीफे से राजद को भोजपुर में बड़ा झटका लगा है क्योंकि इससे पहले भी पार्टी के 2 एमएलसी राधाचरण साह और रणविजय सिंह जनता दल यूनाइटेड (JDU) में जा चुके हैं. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि विजेंद्र यादव भी जेडीयू ज्वॉइन करेंगे. लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि शेष है. विजेंद्र यादव के छोटे भाई अरुण यादव फिलहाल संदेश से राजद के विधायक हैं.


First published: June 27, 2020, 7:18 PM IST





Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें