चीनी साझेदार होने के चलते बिहार सरकार ने दो ठेकेदारों का रद्द किया टेंडर- Bihar government cancels tender of two contractors due to having chinese partners jhnj | patna – News in Hindi

0
2


चीनी पार्टनर होने के चलते बिहार सरकार ने दो ठेकेदारों का रद्द किया टेंडर, मंत्री ने कही ये बात

बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव (फोटो- सौ. एएनआई)

पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव (Nand Kishor Yadav) ने कहा कि दोनों ठेकेदारों के साझेदार चीनी (Chinese Partners) थे. हमने उन्हें अपने साथी बदलने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. इसलिए उनका टेंडर रद्द कर दिया गया.

पटना. बिहार की लाइफ लाइन कहे जाने वाले महात्मा गांधी सेतु (Mahatma Gandhi Setu) के समानांतर नये पुल के निर्माण के लिए दो ठेकेदारों का टेंडर रद्द (Tender Cancel) कर दिया गया है. बिहार सरकार (Bihar Government) ने ऐसा इसलिए किया, क्योंकि दोनों के साझेदार चीनी (Chinese Partners) थे. सरकार ने इसके लिए फिर से आवेदन मांगे हैं.

राज्य के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि चार में से 2 ठेकेदार जिन्हें महात्मा गांधी सेतु के समानांतर एक नए पुल के निर्माण के लिए चुना गया था, उनके चीनी साझेदार थे. हमने उन्हें अपने साथी बदलने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. इसलिए हमने उनका टेंडर रद्द कर दिया. हमने फिर से आवेदन मांगे हैं.

30 जून तक नहीं चालू नहीं हो पाएगा नवनिर्मित पश्चिमी लेन

दरअसल 30 जून तक गांधी सेतु के नवनिर्मित पश्चिमी लेन को चालू करने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे पूरा करना संभव नहीं दिख रहा है. इसमें कम से कम एक महीना और लगेगा. स्टील से निर्मित सुपरस्ट्रक्चर के 45 में से अब तक केवल 20 स्पैन की ही पिचिंग हुई है. 25 की पिचिंग बाकी है. ऐसे में जुलाई अंत से पहले इसे पूरा करना संभव नहीं दिख रहा. मॉनसून की एक दिन बारिश होने पर तीन दिन काम रुक जा रहा है. लेने चालू होने की घोषणा लगभग दो महीने पहले पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने की थी.

गांधी सेतु के पश्चिमी लेन के सुपरस्ट्रक्चर को स्टील के 45 ट्रश पर खड़ा किया गया है और हर दो पिलर के बीच में एक ट्रश है. इनके पेंटिंग का काम भी अभी पूरा नहीं हुआ है और 23 ट्रश की पेंटिंग बाकी है. पेंटिंग का काम भी बारिश में नहीं हो सकता है और इसे पूरा करने के लिए कम से कम 12-15 दिन मौसम का ठीक रहना जरूरी है.

गांधी सेतु के समानांतर पुल का टेंडर रद्द

उधर, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने पटना में गंगा नदी पर महात्मा गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले नये पुल का टेंडर रद्द कर दिया है. शनिवार को दोबारा जारी टेंडर में एजेंसियों से 29 जुलाई तक प्रस्ताव मांगे गये हैं. 31 जुलाई को इस पर अंतिम फैसला होगा. महात्मा गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले चार लेन के नये पुल के लिए सात एजेंसियों ने टेंडर डाला था. 2411.50 करोड़ रुपये की लागत से बननेवाले इस पुल के लिए टेंडर डालने का छह जनवरी, 2020 को अंतिम दिन था. सात कंपनियों ने इसके लिए रुचि दिखायी थी.

 


First published: June 28, 2020, 6:39 PM IST





Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें