बारिश, बाढ़ के बाद अब बिहार में टिड्डियों का घात, गांव में जागकर रात गुजार रहे अधिकारी locusts squad attacked on these areas of bihar agriculture department released alert brjm bramk | patna – News in Hindi

0
2


बारिश, बाढ़ के बाद अब बिहार में टिड्डियों का घात, गांव में जागकर रात गुजार रहे अधिकारी

बिहार के कई जिलों में टिड्डियों के दल ने हमला बोला है (सांकेतिक चित्र)

कृषि मंत्री डाॅ प्रेम कुमार ने बिहार के सीमावर्ती जिलों में टिड्डियों के पहुंचने की सूचना पर उसके नियंत्रण के लिए पौधा संरक्षण संभाग के मुख्यालय एवं क्षेत्रीय पदाधिकारियों के साथ टिड्डियों के खतरे को लेकर वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से बैठक भी की है

पटना. बिहार में बारिश, बाढ़ के बाद अब टिड्डियों ने धावा बोला है. सीमावर्ती जिलों में टिड्डियों के हमले की सूचना मिलने के साथ ही विभाग को अलर्ट कर दिया गया है. टिड्डियों का दल बिहार के सीमावर्ती जिलों में हमला बोल चुका है जिससे निपटने के लिए कृषि विभाग लगातार तत्पर है. बिहार के कई जिलों में टिड्डियों का दल पहुंच गया है जो फसलों को चट कर जा रहा है जिससे किसानों में हड़कंप है.

बचाव के लिए किए गए हैं उपाय

कृषि मंत्री डाॅ प्रेम कुमार ने बिहार के सीमावर्ती जिलों में टिड्डियों के पहुंचने की सूचना पर उसके नियंत्रण के लिए पौधा संरक्षण संभाग के मुख्यालय एवं क्षेत्रीय पदाधिकारियों के साथ टिड्डियों के खतरे को लेकर वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से बैठक भी की है. मंत्री ने कहा कि बिहार में अब तक टिड्डियों से किसी प्रकार के नुकसान की सूचना प्राप्त नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि मैं प्रतिदिन स्वयं इसका अनुश्रवण कर रहा हूँ. कृषि विभाग के क्षेत्रीय पदाधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा टिड्डियों को भगाने का उपाय किया जा रहा है, साथ ही, चिह्नित स्थानों कीटनाशक दवा का भी छिड़काव किया जा रहा है.

इन जिलों में दिखी है टिड्डियों की हरकतमंत्री ने बताया कि 26 जून को सिवान जिला के उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती प्रखंडों में टिड्डी दल को उड़ते हुए देखा गया है, जिसकी उड़ने की दिशा उत्तर प्रदेश के जाफरनगर एवं गोपालगंज जिले के हथुआ प्रखंड की ओर थी. इससे पहले 24 जून की रात्रि में रोहतास जिला के कोचस प्रखंड के सैरा, बलथरी, एवं कपसियाँ पंचायतों में टिड्डी के बहुत ही छोटे दल की प्रकोप की सूचना प्राप्त हुई थी, जिसे जिला कृषि पदाधिकारी, रोहतास एवं सहायक निदेशक, पौधा संरक्षण और अग्निशमन दस्ते के समेकित प्रयास से ऑपरेशन चलाकर बहुत हद तक नियंत्रण कर लिया गया है.
फसलों को नहीं होगा नुकसान 

डाॅ कुमार ने कहा कि कृषि विभाग, जिला प्रशासन तथा अग्निशमन के पदाधिकारी और कर्मचारी पूरी तरह से सतर्क हैं.  राज्य के उत्तर प्रदेश से जुड़े सीमावर्ती जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. स्थानीय किसानों को प्रशिक्षण भी दिया गया है. स्थानीय पदाधिकारी एवं कर्मचारियों को गांव में ही रात्रि विश्राम करने का निर्देश दिया गया है. टिड्डियों पर नियंत्रण के लिए आवश्यक उपकरण एवं दवाएँ प्रचूर मात्रा में उपलब्ध हैं. विभाग द्वारा इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किया गया है.


First published: June 28, 2020, 12:48 PM IST





Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें